नंदप्रयाग-घाट मोटर मार्ग खास्ताहाल

Publish 14-04-2019 19:57:42


नंदप्रयाग-घाट मोटर मार्ग खास्ताहाल

गोपेश्वर/चमोली (जगदीश पोखरियाल)।  चमोली जिले का घाट विकास खंड को जोडने वाली नंदप्रयाग-घाट सड़क विभागीय अधिकारियों की लापरवाही के चलते खस्ताहालत में पहुंच गई है। जिससे घाट विकास खंड के सैकडों गांवों के ग्रामीण यहां रोज जान जोखिम में डालकर आवाजाही करने को मजबूर हैं। ग्रामीणों का कहना है कि कई बार विभागयी अधिकारियों से सडक सुधारीकरण की मांग करने के बाद भी स्थिति जस की तस बनी हुई है।
घाट विकास खंड से सौ अधिक गांवों की लाइफ लाइन कहे जाने वाले नंदप्रयाग-घाट सडक के रख-रखाव का जिम्मा लोक निर्माण विभाग खंड कर्णप्रयाग के पास है। लेकिन यहां विभागीय अधिकारियों की सुस्त कार्य प्रणाली के चलते सड़क पर नालियों और कॉजवे का निर्माण न होने से नालियों और गदेरों के पानी का सडक पर भराव हो रहा है। जिससे सड़क जगह-जगह गढडों में तब्दील हो गई है। जिससे यहां वाहनों की आवाजाही खतरनाक बनी हुई है। सड़क में हो रहे जल भराव से दुपहिया वाहनों की दुर्घटना की संभावना बनी हुई है। स्थानीय निवासी लक्ष्मण सिंह, सजेंद्र सिंह और रघुवीर प्रसाद का कहना है कि कई बार विभागीय अधिकारियों से सडक किनारे नालियों का निर्माण करने की मांग उठाई गई। लेकिन विभागीय अधिकारियों द्वारा सड़क पर गढडे भर कर अपनी जिम्मेदारी की इतिश्री की जा रही है। जिससे नालियों और गदेरों के पानी से सड़क बार-बार क्षतिग्रस्त हो रही है। ग्रामीणों ने विभागीय अधिकारियों से सडक पर नाली निर्माण की मांग उठाई है।
क्या कहते है अधिकारी
नंदप्रयाग-घाट सडक पर का सुधारीकरण कार्य किया जा रहा है। नालियों में भरे मलबे को हटाने का कार्य भी करवाया जा रहा है। नालियों और कॉजवे के क्षतिग्रस्त हिस्सो के सुधारीकरण के लिये प्रस्ताव तैयार किया जा रहा है। शीघ्र नालियों और काजवे का भी सुधारीकरण कर लिया जाएगा।
अशोक कुमार नैथानी, अधिशासी अभियंता, लोनिवि।

To Top