दुरस्थ मतदेय स्थलों के लिए पोलिंग पार्टियां रवाना

Publish 09-04-2019 18:52:27


दुरस्थ मतदेय स्थलों के लिए पोलिंग पार्टियां रवाना

गोपेश्वर/ चमोली (जगदीश पोखरियाल)। लोकसभा चुनाव के लिए 11 अप्रैल को होने वाले मतदान के लिए चमोली जिले के दूरस्थ मतदेय स्थलों के लिए मंगलवार को पोलिंग पार्टियों रवाना हो गई है। बता दें कि चमोली जिले में 13 ऐसे मतदेय स्थल है जो सात से लेकर 25 किमी तक पैदल है। ऐसे पोलिंग स्थलों के लिए दो दिन पहले ही पोलिंग पार्टियां मंगलवार को पुलिस मैदान गोपेश्वर से रवाना हो गई है। जिला निर्वाचन अधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने बताया कि जिले के सबसे दूरस्थ मतदेय स्थलों के लिए पोलिंग पार्टियों को रवाना कर दिया गया है। थराली विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत सात किलोमीटर से अधिक पैदल दूरी वाले मतदेय स्थल राजकीय प्राथमिक विद्यालय कनोल, राप्रावि तोरती, राजकीय कन्या उच्चतर प्राथमिक विद्यालय हरमल, राप्रावि चोटिंग व राप्रावि बलाण के लिए मतदान पार्टियां रवाना की गई है।

जबकि बद्रीनाथ विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत मतदेय स्थल संख्या राप्रावि मोल्ठा, राप्रावि जखोला, राप्रावि किमाणा, राप्रावि डुमक, राप्रावि कलगोठ, राप्रावि इराणी, 1राप्रावि झींझी व राप्रावि पाणा की पोलिंग पार्टियों को रवाना किया गया। इस प्रकार थराली विधानसभा की पांच तथा बद्रीनाथ विधानसभा क्षेत्र की आठ पोलिंग पार्टियों को दो दिन पहले रवाना किया गया। बताया कि बाकी सभी मतदेय स्थलों के लिए 10 अप्रैल को पोलिंग पार्टियां भेजी जाएंगी। विधानसभा क्षेत्र थराली व कर्णप्रयाग पोलिंग पार्टियों को सिमली तथा बद्रीनाथ विधानसभा क्षेत्र की पोलिंग पार्टियों को पुलिस मैदान गोपेश्वर से रवाना किया जाएगा।  जिला निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि जिन बूथों में संचार व्यवस्था नही है वहां से सूचनाओं के प्रेषण के लिए पोलिंग पार्टियों को सेटेलाइट फोन व वायरलेस सेट उपलब्ध कराए जा रहे है। इसके साथ ही मतदान पार्टियों तथा सेक्टर, जोनल मस्ट्रिेटों की जीपीएस ट्रेकिंग भी की जा रही है। पोलिंग पार्टियों की रवानगी से पूर्व प्रातः छह जिला निर्वाचन अधिकारी स्वाति एस भदौरिया, अपर जिला निर्वाचन अधिकारी हसांदत्त पांडे, उप जिला निर्वाचन अधिकारी एमएस बर्निया, एआरओ बदरीनाथ बुशरा अंसारी, एआरओ थराली किशन सिंह नेगी एवं राजनैतिक दलों के पदाधिकारियों की उपस्थिति में स्टांग रूम की सील खोलकर कडी सुरक्षा व्यवस्था के साथ ईवीएम व वीवीपैट वितरण केंद्र पुलिस मैदान पहुंचायी गई, जहां से इन्हें पोलिंग पार्टियों के सुपुर्द किया गया।

To Top