सरकारी भूमि पर बने भवन को ध्वस्त किये जाने के खिलाफ सपरिवार धरना शुरू

Publish 13-02-2019 17:43:49


सरकारी भूमि पर बने भवन को ध्वस्त किये जाने के खिलाफ सपरिवार धरना शुरू

गोपेश्वर/चमोली(जगदीश)। चमेाली जिले के पोखरी विकास खंड के मयाणी तोक में सरकारी भूमि पर भवन निर्माण के खिलाफ की गई कार्रवाई के विरोध में भवन स्वामी ने बुधवार से जिलाधिकारी चमोली के कार्यालय पर सपरिवार धरना शुरू कर दिया है। भवन स्वामी ने राजस्व विभाग और नगर पंचायत के अधिकारी व कर्मचारियों पर गलत कार्रवाई करने का आरोप लगाया है। उन्होंने जिलाधिकारी को ज्ञापन देकर मामले में कार्रवाई कर क्षतिपूर्ति की मांग उठाई है।
बता दें कि बीती 24 नवम्बर 2018 को राजस्व विभाग और नगर पंचायत पोखरी ने मयाणी नामक तोक एक भवन को यह कह कर ध्वस्त कर दिया कि यह भवन सरकारी भूमि पर अवैध तरीके से बनाया गया है। जबकि भवन स्वामी फते सिंह ने राजस्व विभाग और नगर पंचायत पर गलत कार्रवाई का आरोप लगाने की बात कहते हुए परिवार सहित धरना शुरु कर दिया गया है। फते सिंह का कहना है कि 2017 में तहसील प्रशासन और उप राजस्व निरीक्षक ने उन्हें मयाणी तोक में भवन निर्माण के लिये मौखिक स्वीकृति दी गई थी। जिसे बाद स्वीकृत भूमि पर उन्होंने तीन कमरों का आवासीय भवन का निर्माण किया। लेकिन अब राजस्व विभाग और नगर पंचायत के अधिकारियों ने सरकारी भूमि पर अतिक्रमण की बात कहते हुए बीती 24 नवम्बर को उनका आवासीय भवन ध्वस्त कर दिया गया है। जिसके चलते अब वे अपने परिवार के साथ दर.ब.दर भटकने को मजबूर हैं। उन्होंने जिलाधिकारी से मामले की जांच कर दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करने और क्षतिपूर्ति की मांग उठाई है।

To Top