पर्यटक स्थल बैनीताल में बढ़ी पर्यटको की तादाद

Publish 29-01-2019 16:02:29


पर्यटक स्थल बैनीताल में बढ़ी पर्यटको की तादाद


अल्मोड़ा (शिबेन्द्र गोस्वामी)|   स्थानीय आवश्यकताओं के अनुसार वहॉ के युवाओ को कौशल विकास हेतु प्रशिक्षण प्रदान किये जाय ताकि वे कौशल विकास के क्षेत्र में उस प्रशिक्षण को प्राप्त कर सकें यह बात सचिव कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्रालय भारत सरकार डा0 के0पी0 कृष्णनन ने विकास भवन में आयोजित एक बैठक के दौरान अधिकारियों से कही। उन्होंने कहा कि युवाओ को स्थानीय जरूरतो के अनुसार प्रशिक्षण दिया जाय जिसमें पर्यटन, जैविक कृषि सहित अन्य स्थानीय उत्पादो में उनका कौशल विकास किया जा सके। सचिव ने कहा कि जल्दी ही उद्यमिता एवं कौशल विकास मंत्रालय की एक टीम जनपद का भ्रमण कर जिलाधिकारी एवं मुख्य विकास अधिकारी के साथ बैठक करेंगे जिसमें कौशल विकास के क्षेत्र में सम्भावनाओं पर चर्चा की जायेगी। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री कौशल विकास का उददेश्य युवाओ को कौशल प्रशिक्षण के लिए आकर्षित करना है जो किसी योग्यता आर्धारित होता है। सरकार और निजी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थानो के माध्यम से इस योजना को क्रियान्वित किया जाता है। प्रशिक्षण कार्यक्रम में बुनियादी कौशल और व्यवसायिक ज्ञान प्रदान किये जाने पर कार्य किया जाता है साथ ही उन्हें तकनीकी तौर पर भी प्रशिक्षित किया जाता है जिससे अपने कौशल को आगे भी हस्तान्तरित कर सकें।
    इस अवसर पर जिलाधिकारी इवा आशीष श्रीवास्तव ने बताया कि जनपद में कृषि, पर्यटन, आजीविका, पशुपालन विभागों से समन्वय स्थापित कर समय-समय पर प्रशिक्षण दिये जा रहे है। उन्होंने बताया कि वर्तमान में आजिविका के समूहों के माध्यम से स्थानीय उत्पादों को बाजार तक पहुॅचाने का कार्य किया जा रहा है। जिलाधिकारी ने कहा कि बांस पर आधारित टोकरी बनाये जाने का प्रशिक्षण दिया जा रहा है साथ ही हिलांस ब्राण्ड के नाम से स्थानीय उत्पादो को बनाया जा रहा है। मुख्य विकास अधिकारी मयूर दीक्षित ने बताया कि जनपद में पर्यटन की अपार सम्भावनाओ को देखते हुए युवाओं को टूरिस्ट गाईड के कौशल विकास का प्रशिक्षण दिया जा सकता है। इस दौरान प्रधानमंत्री कौशल विकास केन्द्र धारानौला में जे0आई0टी0एम0 के निदेशक डा0 योगेश कुमार ने केन्द्र में दिये जा रहे प्रशिक्षण के बारे में अवगत कराते हुए बताया कि वर्तमान में यहॉ पर मोबाईल फोन रिपेयरिंग, हस्तशिल्प, सिलाई एवं बुनाई एवं कम्प्यूटर हार्डवेयर का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। वित्तीय वर्ष 2017-18 में 950 प्रशिक्षणार्थियों ने प्रशिक्षण प्राप्त किया जिनमें 325 प्रशिक्षणार्थी को रोजगार प्राप्त हुआ है। वर्ष 2018-19 में प्रवेश की प्रक्रिया जारी है जिसमें अभी तक 80 आवेदन प्राप्त हो चुके है।
इस बैठक में सचिव ने प्रधानमंत्री कौशल विकास केन्द्र से प्रशिक्षण प्राप्त कर चुके प्रशिक्षार्थियों से अनेक सुझाव एवं उनके अनुभवो को साझा किया। बैठक में विभिन्न विभागो के अधिकारियों ने भी कौशल विकास के उन्नयन हेतु अपने-अपने सुझाव रखे। इस अवसर पर निदेशक कौशल विकास मंत्रालय पी0एन0 यादव, उप निदेशक सुशील अग्रवाल, जिला विकास अधिकारी मोहम्मद असलम, प्रभारी सेवायोजन अधिकारी आर0के0 पंत, मुख्य कृषि अधिकारी प्रियंका सिंह, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डा0 रविन्द्र चन्द्रा सहित कौशल विकास केन्द्र के प्रशिक्षणार्थी एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

To Top