*** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400, ऑफिस 01332224100 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

बदहाल व्यवस्था : बदहाल सड़क व्यवस्था के चलते चार किमी पालकी बनाकर पहुंचा सड़क मार्ग तक

06-08-2019 19:34:31

जोशीमठ (चमोली)। चमोली जिले के जोशीमठ विकास खंड के उर्गम घाटी के ग्रामीण को आजादी के 70 सालों बाद भी बुनियादी सुविधाओं के लिए जूझना पड़ रहा है। मंगलवार को बदहाल सड़क व्यवस्था के चलते ग्रामीणों को गर्भवती महिला को पालकी बनाकर चार किमी पैदल चलकर मुख्य सड़क मार्ग तक लाया गया जहां से महिला को वाहन से जोशीमठ सीएचसी में लाया गया। हालांकि चिकित्सालय पहुंचने के बाद चिकित्सकों ने प्रसूता की स्थिति में सुधार बताया है।
देवग्राम निवासी प्रदीप सिंह की पत्नी कोमल (जो तीन माह की प्रसूता है) की अचानक तबीयत खराब हो गई। लेकिन पीएमजीएसवाई की ओर से ल्यांरी से देवग्राम के मध्य बनाई कई सड़क इन दिनों डामरीकरण न होने से दलदल में तब्दील है। ऐसे में यहां वाहनों का संचालन नहीं हो पा रहा है। जिसके देखते हुए ग्रामीण युवाओं ने पालकी बनाकर प्रसूता को चार किमी तक कंधों में ढोकर ल्यारी पहुंचाया गया। जहां से वाहन के जरिये कोमल को सीएचसी जोशीमठ में भर्ती कराया गया। जहां उपचार के बाद चिकित्सकों ने कोमल की स्थिति में सुधार बताया है। स्थानीय निवासी अनूप नेगी, रघुवरी नेगी और तारेंद्र का कहना है कि  सड़क के नाम पर पीएमजीएवाई की ओर से ल्यारी गांव से देवग्राम तक हिल कटिंग कर छोड़ दिया गया है। लेनिक डामरीकरण न होने से सड़क पर पैदल चलना भी मुश्किल है। ऐसे में बीमारों को चिकित्सालय पहुचाना भी ग्रामीणों के लिये संकट बना हुआ है। ग्रामीणों ने मामले में जिलाधिकारी से संज्ञान लेकर कार्रवाई की मांग उठाई है।