अब नीती घाटी बनेगी शीत कालीन पर्यटन,“स्कीइंग“की नई लोकेशन

Publish 09-02-2019 19:27:36


अब नीती घाटी बनेगी शीत कालीन पर्यटन,“स्कीइंग“की नई लोकेशन

जगदीश पोखरियाल/संजय कुंवर की एक रिपोर्ट
औली/जोशीमठ/चमोली । इंटरनेशनल विंटर डेस्टिनेशंन औली का चहुमुखी विकास के बाद अब उत्तराखंड की सरकार चमोली जिले की सीमांत नीती घाटी मे विंटर टूरिज्म को बढ़ावा देने की पहल कर रहा है। यदि सब कुछ ठीक रहा तो आने वाले सालों में यह खूबसूरत सीमांत नीती घाटी देशी-विदेशी सेलानियों सहित हिमक्रीड़ा प्रेमियों की पहली पसंद बन सकता है। सूबे के सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत के निर्देशन में जारी उत्तराखंड शासन के डीआईपीआर में इसकी जानकारी ट्विटर के माध्यम से दी गई है।


शुक्रवार को उत्तराखंड के सीएम से मिलने पहुंचे उत्तराखंड विंटर गेम्स एसोसिएशन के पदाधिकारियों के प्रतिनिधिमंडल एव उतराखंड की नेशनल स्कीइंग टीम से मुलाकत के बाद सीएम उतराखंड की और से जारी ट्विटर पर इसकी जानकारी दी गई है। जिसमें कहा गया है कि उत्तराखंड में स्कीइंग प्रतिभाओं की कोई कमी नहीं है, और सरकार औली में विंटर गेंम कराने के लिए प्रतिबध् है, जिसके लिए खुद सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत नें भारत सरकार के खेल मंत्री राज्य वर्धन राठौड़ से वार्ता कर बताया की यदि भारतीय ओलंपिक संघ मार्च व अप्रेल माह तक भी औली मे विंटर गेम्स कराने की अनुमति देता है तो प्रदेश सरकार पूरी तरह तैयार है। कहा की भारतीय ओलंपिक संघ ने इसके लिए एक सब कमेटी के गठन की बात कही है। बताया की नीती घाटी में शीत कालीन लोकेशन सहित स्कीइंग इवेंट को बढावा देने के लिए राज्य सरकार कार्य कर रही है। ऐसे में ये अनुमान लगाना लाजमी होगा की औली की तर्ज पर अब प्रदेश सरकार और टूरिज्म विभाग नीती घाटी में विंटर टूरिज्म और स्कीइंग की संभावनाओं के लिए जोरशोर से जुट गया है। आने वाले दिनों में नीती घाटी जब शीतकालीन पर्यटन हब बन जाएगा तो यहां से ऋतु प्रवासी, भोटिया जनजाति के दर्जनो गांव के बेरोजगार युवाओ को विंटर टूरिज्म से रोजगार भी मिलेगा और इस सीमांत बॉर्डर से लोगो का पलायंन भी रुकेगा।
बता दें की इसी नीति घाटी में पहली बार बाबा बर्फानी  टिम्मरसैण महादेव की एतिहासिक धार्मिक यात्रा का आयोजन किया जा रहा है। जो फिलहाल मलारी भाप कुंड में भारी बर्फबारी होने सड़क बंद होने के चलते फिलहाल इसकी तारीखो में मार्च मध्य तक का बदलाव किये जाने की बात की जा रही है। इस यात्रा के बाद इस सीमांत नीती घाटी में शीत कालीन पर्यटन की नए आयाम जरूर खुलेंगे।

क्या कहते है स्थानीय एडवेंचर से जुडे लोग
एडवेंचर एसोसिएशन जोशीमठ के चैयरमेंन विवेक पंवार का कहना है कि प्रदेश सरकार की पहल जरूर सरहनीय है लेकिन एक विंटर डेस्टिनेशन औली के हाल बद्हाल है यहां आधा माह से सड़क बंद है विंटर गेम्स स्थगित है। इसके लिए कौन जिम्मेदार है।

क्या कहते है अधिकारी
जिला पर्यटन अधिकारी चमोली बृजेंद्र पांडेय कहते है कि अभी सिर्फ टिम्मरसैण महादेव की यात्रा की बात चल रही है। जो नीती घाटी में भारी बर्फवारी के कारण इसकी यात्रा की तिथि मार्च अथवा अप्रैल माह में किये जाने

To Top