*** सभी ग्रामवासियों को गाँधी जयंती और विजय दशमी दशहरा की हार्दिक शुभकामनायें - शेर अली , प्रधान प्रत्याशी पति ग्राम पंचायत रायापुर *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

आपदा में बहा घटगाड़ गदेरे का पुल : मतदान कर्मियों को झेलनी पड़ सकती है परेशानी

06-10-2019 18:14:06

थराली (चमोली)। चमोली जिले के देवाल ब्लाक के दुरस्थ गांव बलाण के घटगाड़ गदेरे पर बना आरसीसी पुल अगस्त माह की आपदा में बह गया था जो अभी तक नहीं बन पाया है। ऐसे में ग्रामीण जान जोखिम में डालकर नदी को आरपार कर रहे है। 16 अक्टूबर को यहां पर तीसरे चरण में पंचायत चुनाव के लिए मतदान होना है ऐसे में मतदान कर्मियों को भी बिना पुल के यहां से गुजरने में भारी मसकत करनी पड़ सकती है। हालांकि तहसील प्रशासन यहां पर आने जाने के लिए रास्ता बनाने की बात कर रहा है ताकि कोई परेशानी न हो।

देवाल के पूर्व ब्लाक प्रमुख देवी दत्त कुनियाल का कहना है कि अगस्त माह में आयी दैवीय आपदा के दौरान बलाण गांव के पास बहने वाले घटगाड़ गदेरे में निर्मित आरसीसी पैदल पुलिया के बह जाने के कारण बलाण गांव के ग्रामीणो को आवागमन में भारी दिक्कतो का सामना करना पड़ रहा हैं। ग्रामीण नदी के रास्ते ही आवाजाही करने के मजबूर हैं। आपदा के तीन माह बाद भी इस गद्देरे मे पुल निर्माण की प्रक्रिया शुरू नहीं की गई है। जिससे ग्रामीणों में भारी रोष व्याप्त है। यहीं नहीं आगामी 16 अक्टूबर को अंतिम चरण के पंचायत चुनाव में इस गांव में भी मतदान होना है। ऐसे में मतदान कर्मियों को भी गांव तक पहुंचने के लिए भारी मसकत करनी पड़ सकती है।

बलाण गांव तक जाने के लिए पैदल रास्ते का निर्माण किया जा रहा है। हालांकि चुनाव तक आरसीसी पुलिया का निर्माण संभव नहीं है लेकिन गांव तक पहुंचने के लिए पैदल रास्ते को ठीक किया जा रहा है ताकि मतदान कर्मियों के साथ ही ग्रामीणों का किसी प्रकार की परेशानी न हो।
केएस नेगी उपजिलाधिकारी थराली।