चमोली जिले के 150 से अधिक गांव शीत लहर की चपेट में

Publish 01-02-2019 16:38:42


चमोली जिले के 150 से अधिक गांव शीत लहर की चपेट में

जोशीमठ/चमोली(संजय कुँवर)। देवभूमि उत्तराखंड के चमोली जिले में पिछले दो दिनों से हो रही लगातार वर्षा व हिमपात से शीत लहर चल रही है जिससे जन जीवन अस्त व्यस्त हो गया है। बर्फवारी से जनपद के 150 से अधिक गांव बर्फवारी से ढक गये है।  सीमांत ब्लॉक जोशीमठ के अलकनंदा और धोली गंगा घाटी के करीब 60 गांवों में जबरदस्त ठिठुरन और शीतलहर का प्रकोप बढ़ा हुआ है वहीं हिमक्रीड़ा स्थली औली में गुरूवार से हो रही बर्फवारी से तीन फीट ताजा बर्फ होने की सूचना है।
गुरूवार से हो रही लगातार वर्षा व हिमपात के बाद जनपद में शीत लहर चल रही है। वहीं कई गांव में बर्फवारी के चलते उनका संपर्क ब्लॉक तथा जिला मुख्यालय से कट गया है। जोशीमठ क्षेत्र के सुनील, परसारी, मेरग, बड़ागांव, करछो, तुगासी, भलगांव, रेगड़ी सुभाई, भलगांव, लाता, सूकी, रिनगी, सहित डुमक, कलगोठ ,थेंग, मोल्टा पग्नो, औथ, हनुमानचटी, एवं कल्प घाटी के दर्जनों गांव बर्फबारी के चलते मुख्यालय जोशीमठ से कटे हुए हैं। वहीं जोशीमठ औली मोटर मार्ग शुक्रवार को नोवे दिन भी पर्यटक के वाहनों के लिए बंद है भारी हिमपात के चलते यहां लोक निर्माण विभाग के मजदूरों को सड़क से बर्फ हटाने में कड़ी मशक्कत करनी पड़ रही है। वहीं लंबे अंतराल से औली मोटर मार्ग बंद होने से जोशीमठ औली के बीच दर्जनों होटल रिसोर्ट एवं होम स्टे संचालकों का व्यवसाय चैपट हो चला है। औली रोड के बंद होने से इनकी होटल की तमाम बुकिंग में रद्द हो जिसको लेकर स्थानीय पर्यटन व्यवसाय और होटल व्यवसायियों ने प्रशासन के प्रति अपनी नाराजगी भी जाहिर की है। होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष अंतीप्रकाश शाह का कहना है कि पिछले नो दिनों से औली मोटर मार्ग बंद होने से उनका व्यवसाय चोपट हो गया है। होटलों की जो बुकिंग चल रही थी वह भी रद्द हो गई है। वही स्थानीय प्रशासन का कहना है कि बर्फवारी के चलते मोटर मार्ग खोलने में बाधा उत्पन्न हो रही है। मौसम खुलने पर मार्ग को खोल दिया जाएगा।

To Top