*** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

संचार के अभाव में 108 सेवा का लाभ भी नहीं मिल पा रहा ग्रामीणों को

06-06-2019 19:20:55

गोपेश्वर/चमोली (जगदीश पोखरियाल)।  चमोली जिले की नीति घाटी भारत-तिब्बत सीमा से जुडे होने से सामरिक दृष्टि से अत्याधिक संवेदनशील है, लेकिन घाटी के नीती, बाम्पा, मलारी, गमशाली, फरकिया, महरगांव, कैलाशपुर, द्रोणागिरी सहित एक दर्जन गांवों को स्वास्थ्य सेवा के लिये जहां मलारी में एक स्वास्थ्य उप केंद्र संचालित किया जा रहा है। वहीं बाम्पा में एक राजकीय एलोपैथिक चिकित्सालय संचालित किया जा रहा है। लेकिन चिकित्सालय में भी संसाधनों और कर्मचारियों का अभाव ग्रामीणों को स्वास्थ्य सेवाओं का पूर्ण लाभ नहीं दे पा रहे हैं। ऐेसे में राज्य में स्वास्थ्य सेवाओं की संजीवनी कहे जाने वाले 108 सेवा ग्रामीणों के लिये स्वास्थ्य सेवाओं का दूसरे विकल्प के रुप में है। लेकिन घाटी के गांवों में संचार की सुविधा न होने से राज्य में 2008 से संचालित हो रही 108 सेवा का लाभ नहीं मिल पा रहा है। बाम्पा के ग्राम प्रधान धर्मेंद्र पाल, राजेंद्र सिंह और धीरेंद्र गरोडिया का कहना है कि कई बार शासन-प्रशासन और जन प्रतिनिधियों से क्षेत्र में संचार और स्वास्थ्य की सेवाओं की बेहतर व्यवस्थाओं की मांग की जा चुकी है। लेकिन वर्तमान तक स्थिति जस की तस बनी हुई है।

क्या कहते है अधिकारी
नीति घाटी में संचार सेवा की बहाली के लिये बीएडीपी के तहत प्रस्ताव भेजा गया है। जिसे लेकर केंद्र सरकार के उच्चाधिकारियों से भी वार्ता की गई है। घाटी के सामरिक महत्व को देखते हुए नीति घाटी में संचार सेवा बहाली के प्रयास किये जा रहे हैं। साथ ही स्वास्थ्य विभाग को घाटी में उपलब्ध संसाधनों को दुरुस्त रखने के निर्देश दिये गये हैं।
स्वाती एस भदौरिया, जिलाधिकारी, चमोली।