108 व खुशियों की सवारी के 51 कर्मियों के सामने खड़ा आर्थिकी का संकट

Publish 26-03-2019 17:54:30


108 व खुशियों की सवारी के 51 कर्मियों के सामने खड़ा आर्थिकी का संकट

गोपेश्वर/चमोली (जगदीश पोखरियाल)। उत्तराखंड सरकार के 31 मार्च के बाद 108 व जीवीके ईएमआर खुशियों की सवारी सेवा का अनुबंध समाप्त कर नई कंपनी को अनुबंधित करने के बाद अब जिले में कार्यरत 108 व खुशियों की सवारी के कर्मचारियों के सामन रोजी-रोटी का संकट पैदा हो गया है। कंपनी ने सभी कर्मचारियों को 31 मार्च के बाद सेवा समाप्ति का नोटिस थमा दिया है।
बता दें कि चमोली जिले में 108 सेवा के संचालन के लिये 23 चालक व 21 फार्मसिस्ट तैनात किये गये हैं। जबकि खुशियों की सवारी के संचालन के लिये सात चालक तैनात हैं। अब जब नई कंपनी से अनुबंध किया गया है तो 108 व खुशियों की सवारी ने जनपद में कार्यरत 51 कर्मचारियों की सेवा समाप्ति का नोटिस थमा दिया है। इस संबंध में कर्मचारियों ने एक ज्ञापन भाजपा के राष्ट्रीय सचिव तीरथ सिंह रावत के गोपेश्वर दौरे के दौरान मंगलवार को सौंपा है जिसमें कहा गया है कि नई कंपनी नये तरीके से भर्ती शुरू कर ही है जबकि पूर्व में कई वर्षों से कार्यरत कर्मचारी जिसमें कुछ आयु सीमा पर कर चुके है उनके समायोजन की कोई बात सरकार ने नहीं की है। मांग की है कि नई कंपनी से 108 व खुशियों में कार्यरत कर्मचारियों को समायोजित किया जाय ताकि कर्मचारियों को आर्थिक संकट से न जुझना पडे़। ज्ञापन देने वालों में जिला अध्यक्ष अनूप तिवारी, उपाध्यक्ष  सुरजीत सिह, कोषाध्यक्ष बचन सिंह, आशीष डिमरी, मनमोहन सिंह राणा, सुरेन्द्र सिह आदि मौजूद थे।

 

To Top