*** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400, ऑफिस 01332224100 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

गजब : शिक्षक संतोष नेगी ने न्यूतेर में बाटी साईकल

08-06-2019 19:15:49

कोटद्वार/गढ़वाल  :  देवभूमि उत्तराखण्ड के गढ़वाल का द्वार कहे जाने वाले कोटद्वार में एक शिक्षक ने मिशल पेश की है . शिक्षक संतोष सिंह नेगी ने अपने नये नये कार्यो से विधार्थियों और समाज में एक नई सोच के उभरता हुआ चेहरा है जिनके द्वारा विधार्थियों के लिये नित नये नये कार्य किये जाते है.  कई पुरस्कार हासिल कर चुके शिक्षक संतोष नेगी प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर कई बड़ी हस्तियों को अपने काम के जिरिए अपना फैन बना चुके हैं। पिछले लंबे समय से संतोष नेगी स्कूली बच्चों को साइकिलें बांट रहे हैं। उनकी लक्ष्य उन बच्चों को स्कूल पहुंचाना है, जो गरीबी के चलते रोजाना स्कूल बस या फिर टैंपो की फीस नहीं भर सकते हैं। अब कई बच्चों को साइकिलें बांट चुके हैं।

राजकीय इंटर काॅलेज कोटद्वार में तैनात शिक्षक संतोष नेगी की शादी होने जा रही है। आज उनकी शादी का न्यूतेर है। उन्होंने न्यूतेर के दिन 10 स्कूली बच्चो करीब 50 हजार रुपये की साइकिलें बांटी। इस तरह उन्होंने लोगों के सामने एक उदाहरण पेश किया है।

साइकिलें सीओ कोटद्वार जेआर जोशी ने इंटर काॅलेज के बच्चों को बांटी।  कोटद्वार  सीओ जोशी ने शादी में इस नई परंपरा का स्वागत किया। उन्होंने कहा कि इस तरह से लोगों को आगे आकर पहल करनी चाहिए। इससे नशाखोरी पर भी लगाम लगेगी। कार्यक्रम में संतोष सिंह नेगी, भावी जीवन संगनी रजनी नेगी भी मौजूद रही। बच्चों के साथ उनके परिजन भी इसमें शामिल हुए।