*** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

सूअर कर रहे खेतों में मूंगफली की फसल को ज्यादा नष्ट

24-10-2018 18:33:08

उन्नाव (रघुनाथ)|  क्षेत्र में इन दिनों घरेलू वा जंगली पशुओं से कृषक वर्ग पूरी तरह से त्रस्त हो चुका है । बताते चलें कुछ दिनों से घरेलू व जंगली पशु खेतों की फसलें खाकर तोड़ कर नष्ट तो कर ही रहे थे अब करीब 10 दिनों से जंगली बड़ेला सूअर क्षेत्र के किसानों की खेत में लगी फसल को तोड़कर उखाड़ कर नष्ट कर रहा है। और किसानों को भी डरा रहा है जिससे कि क्षेत्र के किसान काफी डरे हुए हैं उनको अपने खेत पर जाने में डर लग रहा है की किस समय वह जंगली बड़ेला सूअर दिख जाए और हमला कर दे खासतौर से वह सूअर खेतों में मूंगफली की फसल को ज्यादा नष्ट कर रहा है खेतों में लगी मूंगफली इस समय पक चुकी है किसान उसे खेत से निकालना चाह रहे हैं लेकिन जंगली बड़ेला सूअर की वजह से खेत में अपनी मूंगफली की फसल को नहीं निकाल पा रहे हैं बल्कि वह जंगली बड़ेला सूअर फसल को उखाड़कर मूंगफली इधर-उधर फैला रहा है और खा कर नष्ट कर रहा है।

वैसे भी अब फतेहपुर चौरासी क्षेत्र में मूंगफली की फसल खराब हो चुकी है कुछ किसानों के खेतों में बहुत कम मूंगफली की फसल दिख रही है जो दिखती है उसमें 10 से 20 फीसदी ही फसल का लाभ किसानों को मिलने की उम्मीद दिख रही है क्योंकि पहले तो बाढ़ से प्रभावित क्षेत्र की मूंगफली की फसल पूरी तरह से समाप्त हो गई है और जो बची फसल व जंगली पशुओं के द्वारा नष्ट हुई जा रही है इससे मूंगफली बोने वाले किसानों का कहना है कि अब फतेहपुर चौरासी क्षेत्र से ही मूंगफली की फसल बरसात सीजन की पूरी तरह से समाप्त होने की कगार पर है अब केवल बेमौसम की मूंगफली को ही उगाया जा सकता है और उसी फसल का ही लाभ उठाया जा सकता है।