कोटद्वार नगर निगम चुनाव : बीजेपी व कांग्रेस प्रत्याशी से हटे संकट के बादल, निर्वाचन अधिकारी ने बताया नामांकन वैध

Publish 26-10-2018 19:08:38


कोटद्वार नगर निगम चुनाव : बीजेपी व कांग्रेस प्रत्याशी से हटे संकट के बादल, निर्वाचन अधिकारी ने बताया नामांकन वैध

कोटद्वार/गढ़वाल | कोटद्वार मेयर पद के दो उमीद्वारो पर पिछले 24 घंटे से नामाकन रद होने की तलवार लटक रही थी , निर्वाचन अधिकारी रामजी शरण के निर्णय के बाद संकट टल गया  , आज सुबह से ही तहसील परिसर में राजनितक गहमा - गहमी का माहोल था !  भाजपा प्रत्याशी लैंसडौन विधायक दलीप रावत की पत्नी नीतू रावत के खिलाफ शिकायत कर्ता शोभा बहुगुणा, मनोज रावत एवं संजय ध्यानी ने आरोप लगाया था कि नीतू रावत के पति दलीप रावत द्वारा पनियाली तल्ली लकड़ीपड़ाव में नगर निगम की भूमि पर अवैध कब्जा किया गया है। शोभा बहुगुणा के अधिवक्ता अरविन्द वर्मा ने कहा कि उनके क्लाइंट द्वारा जो आरोप लगाये गये है उनके झूठा होने के कोई भी सबूत बचाव पक्ष द्वारा नहीं दिये गये है। जिससे स्पष्ट होता है कि भाजपा प्रत्याशी नीतू रावत के पति दलीप रावत के द्वारा लकड़ीपड़ाव में नगर निगम की भूमि के दो प्लाटों पर अवैध कब्जा किया गया है। बचाव पक्ष में भाजपा प्रत्याशी नीतू रावत के अधिवक्ता वृजमोहन चौहान ने कहा कि उनके पति द्वारा लकड़ीपड़ाव में नगर निगम की भूमि पर कोई अवैध कब्जा नहीं किया गया है और लकड़ीपड़ाव में जो भी बात कब्जे की आ रही है! वह उच्च न्यायालय नैनीताल में स्थगन के तहत विचाराधीन है। इस मामले में नीतू रावत के अधिवक्ता वृजमोहन चौहान ने नगर निगम द्वारा निर्वाचन अधिकारी को उपलब्ध कराया गया वह पत्र दिखाया जिसमें लकड़ीपड़ाव की भूमि पर मूल पट्टा धारक ताहिर हुसैन की बेटी समा खातून ने लीज को निरस्त करने के सरकार के आदेश पर हाईकोर्ट द्वारा स्थगन दिये जाने की बात कही है।

   पूर्व काबीना मंत्री सुरेर्न्द्र सिंह नेगी की पत्नी हेमलता नेगी व भाजपा प्रत्याशी लैंसडौन विधायक दलीप रावत की पत्नी नीतू रावत के नामाकंन को आपत्तियों पर निर्वाचन अधिकारी रामजी शरण शर्मा के समक्ष दोनों प्रत्याशियों के अधिवक्ताओं ने अपनी-अपनी बात रखी। मामले में सुनवाई पर 2 घंटे की लम्बी बहस चली !  इसी दौरान नगर निगम कोटद्वार द्वारा दोनों मामलों में अतिक्रमण की स्थिति से निर्वाचन अधिकारी को लिखित में सूचित भी किया गया है। कांग्रेस प्रत्याशी पूर्व काबीना मंत्री सुरेर्न्द्र ंसह नेगी की पत्नी हेमलता नेगी के नामाकंन को निरस्त करने के लिए दी गई ! शिकायत के शिकायतकर्ता के अधिवक्ता वृजमोहन चौहान ने कहा कि सुरेन्द्र सिंह नेगी की पत्नी के नाम नजीबाबाद रोड झण्डाचौक के पास एक नजूल भूखण्ड जो फ्री होल्ड है पर तीन मंजिला भवन बनाया गया है। इस भवन निर्माण के दौरान फुटपाथ व सरकारी जमीन पर भी कब्जा किया गया। जिसके लिए नगर निगम द्वारा उन्हें अतिक्रमणकारी घोषित करते हुए अतिक्रमण हटाने का नोटिस दिया गया था। एडवोकेट चौहान ने कहा कि श्रीमती हेमलता नेगी द्वारा भले ही आज फुटपाथ को खाली करने की बात की जा रही हो लेकिन फुटपाथ के ऊपर तीन मंजिला भवन आज भी मौजूद है। जबकि नगर निगम द्वारा उन्हें आज भी अतिक्रमणकारी माना जा रहा है। कांग्रेस प्रत्याशी हेमलता नेगी के अधिवक्ता कुलदीप अग्रवाल एवं जगमोहन सिंह नेगी ने अतिक्रमण होने से साफ इंकार किया और कहा कि उन्होंने नगर निगम द्वारा फुटपाथ खाली करने के नोटिस के बाद उसे खाली कर दिया था।
   दोनों मामलों में लगभग दो घंटे चली बहस दोपहर 1 बजे समाप्त हुई। इसके बाद पांच बजे निर्वाचन अधिकारी रामजी शरण द्वारा कांग्रेस और भाजपा के दोनों प्रत्याशियों के आवेदकों के नामाकंन के वैध और अवैध होने का निर्णय सुनाया गया। जिसमें निर्वाचन अधिकारी रामजीशरण ने कहा कि आपत्तीकर्ताओ द्वारा जो साक्क्षय प्रस्तुत किये गये थे उनसे दोनो उम्मीदद्वारो के खिलाफ आकृटय साबूत नही पाया गये जिससे यह प्रतित होता हो की उनके द्वारा नगर निगम की भूमि पर अतिक्रमण किया गया है। साथ ही किसी सक्ष्म न्यायालय द्वारा उन्हे अतिक्रमण का दोषी नही पाया गया है। अतः बिना ठोस सबूत के प्रतियाक्षियो का आवेदन खारीज नही किया जा सकता।जिसके बाद निर्वाचन अधिकारी के कक्ष में ही दोनो पक्षो के समर्थको ने खुशी जंहिर की। इस मामले में फैसला आने के बाद कांग्रेस के प्रत्याक्षी हेमलता नेगी ने खुशी व्यक्त करते हुए कहा कि निर्वाचन अधिकारी का  आभार जताया।और ये  कहा कि भाजपा की साजिस थी !  भाजपा प्रत्याशी नीतू रावत के पति लेसडौन विधायक दलीप रावत ने कहा हमारे ऊपर जो आरोप लगाये गए थे वे निराधार थे , हमारी नगर पालिका के इलाके में  कोइ भूमि ही नहीं थी , हम इस फैसले का स्वागत करते है ! 

To Top