जाने करवाचौथ व्रत के बारे में

Publish 18-10-2018 18:27:36


जाने करवाचौथ व्रत के बारे में

फतेहपुर चौरासी उन्नाव(रघुनाथ)| कर्तिक मास कृष्णपक्ष चतुर्थी को करवा का व्रत  सुहागिन महिलाएं रहती हैं। जो इस वर्ष 27 अक्टूबर को रखा जायेगा सुहागिन महिलाओं के लिए इस व्रत का विशेष महत्व है।


ज्योतिष के जानकार रघुनाथ प्रसाद शास्त्री ने बताया कि सुहागिन महिलाएं  अपने पति की लम्बी आयु के लिये  यह व्रत रखती हैं। कुछ क्षेत्रों कुंवारी कन्यायें भी इस व्रत को रखती हैं अच्छे पति प्राप्त करने के लिए ।इस बार करवा चौथ शुक्रास्त के समय मे मनाया जायेगा। हमारे हिंदू धर्म और हिंदू समाज में शुक्रास्त व गुरुअस्त  में शुभ कार्य वर्जित माने जाते हैं।जैसे मुण्डन सँस्कार,विवाह, गृहप्रवेश आदि।16 अक्टूबर शाम 5:58 पर पशिचम में शुक्रास्त हो चुका है ।  शुक्र उदय  एक नवंबर 2018 को होगा । शुक्र अस्त होने के कारण इस वर्ष जिन कन्याओं के विवाह हुये है वह करवा चौथ का व्रत नही रख सकेंगी। और जो महिलाये उद्यापन करना चाहती वह इस बार नही कर सकेंगी। शास्त्रो के अनुसार यह ब्रत 12 बर्ष या 16 वर्ष तक लगातार हर वर्ष किया जाता है। जिसमें ज्यादातर महिलाएं जब तक सुहागिन रहती हैं तब तक यह ब्रत रहती हैं। करवाचौथ को लेकर बाजर सजने लगे हैं।बाजारो रौनक दिखाई देने लगी हैं। मेले और बाजारो में महिलाओं की  भीड़ बढ़ने लगी है।

To Top