पुलिस ने किया चोरो को गिरफ्तार

Publish 24-12-2017 19:29:47


पुलिस ने किया चोरो को गिरफ्तार

साहब! दो पर कार्यवाही, बाकी का क्यां
चांदी का मुकुट और सरगना समेत चार अभी भी पुलिस से दूर
उन्नाव यूपी (संकल्प दीक्षित)।
मंदिर का ताला तोड़कर मूर्ति पर चढ़े चांदी का मुकुट चोरी करने वाले अभियुक्तों में दो अभियुक्त को फतेहपुर चैरासी पुलिस ने धरदबोचा। पकड़े गए अभियुक्तों में एक 14 वर्षीय नाबालिग भी शामिल है। अभियुक्तों के पास से पुलिस ने लैपटाप सहित अन्य माल भी बरामद किया हैं। ये बात दीगर है कि पुलिस के चंगुल से मास्टरमांइड समेत चार अभियुक्त दूर है और कीमती मुकुट को छोड़ पुलिस पैण्ट-शर्ट के माल की बरामदगी कर अपनी पीठ थपथपा रही है।
    रविवार को अपर पुलिस अधीक्षक अष्टभुजा प्रसाद सिंह ने पुलिस लाइन्स स्थित सभागार में प्रेसवार्ता आयोजित की। इस दौरान उन्होने वार्ता करते हुए जानकारी दी कि 11, 12 और 17 दिसम्बर की रात में तकिया में मोबाइल, मेडिकल, कपड़े की दुकान के शटरों के ताला तोड़कर मोबाइल, कपड़े, रूपये चोरो ने पार कर दिए थे। 14 दिसम्बर को हसनगंज कस्बा स्थित मंदिर में लगी मूर्ति पर चढ़ा चांदी का मुकुट भी चोरी किया था। बंटवारे में मिले चांदी के मुकुट को चोरो ने पतावर में छिपा कर रखा था। जिसे आज बेंचने के लिए ले जाया जा रहा था। इसी बीच मुखबिर खास की सूचना पर थाना फतेहपुर चैरासी ने मयफोर्स अभियुक्तों को पकड लिया। जिनके पास से पुलिस ने एक लैपटाप, लूटे गए 13 मोबाइल, शर्ट, पैण्ट, जाकेट बरामद किए है। पकड़े गए अभियुक्तों को लिखापढ़ी कर जेल भेज दिया गया है।
पकड़े गए अभियुक्त
उन्नाव।
थाना फतेहपुर चैरासी पुलिस द्वारा पकड़े गए अभियुक्तों में लखनऊ के थाना पारा के सलेमपुर पतौरा निवासी अरूण उर्फ ओलेक्स पुत्र बैजनाथ व उन्नाव के आसीवन थाना क्षेत्र अन्तर्गत कन्हाऊ का मूल निवासी मैकू उर्फ विकास उर्फ कांटी पुत्र मुनेश गुप्ता को पुलिस ने पकड़ा है। पकड़े गए अभियुक्तों में अरूण नाबालिग है।

फरार हुए शातिर अपराधी
उन्नाव।
पकड़े गए अभियुक्तों ने बताया कि घटना को इरशाद उर्फ बीडीसी पुत्र इन्तियाज निवासी मुस्तफाबाद, हसनगंज सुनियोजित करता था। उसके बाद रमन उर्फ भूपेन्द्र प्रताप सिंह पुत्र विजय प्रताप निवासी मुस्तफाबाद, लखनऊ के पारा सलेमपुर पतौरा निवासी रानू उर्फ छोटे पुत्र मुन्नूलाल व कल्लू उर्फ शहनवाज पुत्र शेरअली निवासी दुल्लूखेड़ा सलेमपुर पतौरा मिलकर घटना को अंजाम देते थे।

To Top