युवती से की मारपीट, युवती ने थाने में दी तहरीर

Publish 30-03-2019 15:17:09


युवती से की मारपीट, युवती ने थाने में दी तहरीर


इंचार्ज के तबादले की मांग को डीएम के माध्यम से गृह सचिव को भेजा ज्ञापन
गुस्साएं कांग्रेसियों ने एसएसपी को ज्ञापन सौंपा,  जॉच को कार्यालय का दिया धरना
अल्मोड़ा 12 सितम्बर,
बीते दिनों भारत बंद के दौरान पूर्व विधानसभा अध्यक्ष व विधायक गोविंद सिंह कुंजवाल और जैंती चौकी इंचार्ज एसआई श्वेता नेगी के बीच सोशल मीडिया में वाइरल हुआ विवाद बुधवार तूल पकड़ गया। कुंजवाल के साथ चौकी इंचार्ज द्वारा किए गए बर्ताव के खिलाफ कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने डीएम व एसएसपी कार्यालय धमक दे जमकर हंगामा काटा। इस दौरान कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने श्वेता नेगी के तबादले की मांग लेकर जमकर नारेबाजी करते हुए एसएसपी एवं डीएम को ज्ञापन भी दिया।


     पूर्व विधानसभा अध्यक्ष व कांग्रेस के दिग्गज नेता गोविंद सिंह कुॅजवाल व जैंती चौकी इंचार्ज के बीच गत दिनों भारत बंद के दौरान हुए विवाद से गुस्साएं कांग्रेसी कार्यकर्ता बुधवार को जिलाध्यक्ष पीतांबर पांडे के नेतृत्व में बुधवार पूर्वाहन के समय पहले एसएसपी कार्यालय फिर डीएम कार्यालय में धमक दीं। कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने सबसे पहले एसएसपी कार्यालय में जाकर धरना-प्रदर्शन कर उनका घेराव किया। इस दौरान जोरदार नारेबाजी करते हुए एसआई पर जनप्रतिनिधियों के साथ कथित अभ्रदता एवं अपमानित करने का आरोप लगाया। साथ ही जैंती इंचार्ज एसआई श्वेता नेगी के तबादले की मांग करते हुए जमकर हंगामा काटा। बाद में एसएसपी को ज्ञापन सौंप जागेश्वर के विधायक कुंजवाल के साथ हुए कथित दुर्व्यवहार को विशेषाधिकार का हनन बताते हुए मामले की निष्पक्ष जॉच की मांग की। इसके बाद भी कांग्रेसियों का गुस्सा शांत नहीं हुआ और वह बाद में जिलाधिकारी नितिन भदौरिया के कार्यालय में पहॅुच उनसे मामले में कार्यवाही की मांग करने लगे। बाद में कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने डीएम के माध्यम से गृह सचिव को भेजे ज्ञापन में कहा कि कुंजवाल के साथ की गई अभद्रता की जॉच पंद्रह दिनों के भीतर कर जैंती चौकी इंचार्ज श्वेता नेगी का विधानसभा से अन्यत्र तबादला अविलंब कर दिया जाए। साथ ही चेतावनी देते हुए कहा कि यदि उनकी मांग पर कार्रवाही नहीं की गई तो विरोध में व्यापक जन आंदोलन खड़ा किया जाएगा। ज्ञापन सौंपने वालों में जिलाध्यक्ष पीतांबर पाण्डेय, नगर अध्यक्ष पूरन सिंह रौतेला, दीवान सिंह सतवाल, पूर्व पालिकाध्यक्ष प्रकाश चंद्र जोशी, इंटक के जिलाध्यक्ष दीपक मेहता, एके सिकंदर पवांर, पूर्व दर्जा राज्य मंत्री बिट्टू कर्नाटक, आनंद सिंह बगडवाल, पंकज वर्मा, तारा चंद्र जोशी, चन्दन बगडवाल,भूवन भोज, दीवान सिंह भैसोड़ा, मनोज सनवाल, एडवोकेट केवल सती, राजीव कर्नाटक, दीपांशु पांडे, शेखर पांडे, निर्मल रावत, दीपक धपोला, लता तिवारी, प्रीति बिष्ट, दीपा साह, किशोर कनवाल, पान सिंह फर्त्याल, हेम जोशी, प्रकाश जोशी, अख्तर हुसैन, रजा अली अंसारी, बिन्नी वैष्णव, दीवान भैसोड़ा, मदन सिंह डांगी, लोकेश तिवारी, कमलेश कुमार, अंकुर कांडपाल, अमन अंसारी, रमेश चंद्र कांडपाल आदि बड़ी संख्या में कांग्रेसी मौजूद थे।



कई बार गर्मागर्म बहस में तब्दील हुई वार्ता
एसएसपी कार्यालय में एसएसपी की कांग्रेसजनों से हुई वार्ता कई बार गर्मागर्म बहस में तब्दील हो गई। एसएसपी पी रेणुका देवी ने साफ कहा कि इस मामले की पहले जांच होगी तभी कोई कार्रवाई हो पाएगी। एसएसपी ने बातों में ही कांग्रेसी कार्यकर्ताओं को अपने संकेतों व तेवरों से जता दिया कि, पुलिस इस मामले में किसी भी दबाव में नहीं आएगी।

To Top