फेसबुक पर दोस्ती करना युवती को पड़ा भारी, युवक ने नाम बदलकर पहले की दोस्ती फिर किया बलात्कार , कोटद्वार पुलिस ने किया गिरफ्तार

Publish 29-04-2019 19:14:28


फेसबुक पर दोस्ती करना युवती को पड़ा भारी, युवक ने नाम बदलकर पहले की दोस्ती फिर किया बलात्कार , कोटद्वार पुलिस ने किया गिरफ्तार

कोटद्वार :  पौड़ी जनपद में सोशल मीडिया पर युवती को अनजान युवक से दोस्ती करना भारी पड़ गया। कोटद्वार कोतवाली से प्राप्त जानकारी के अनुसार रविवार (कल) पुलिस को सूचना प्राप्त हुई कि कोटद्वार रेलवे स्टेशन पर एक संदिग्ध व्यक्ति किसी लड़की के साथ घूम रहा हैं। सूचना पर बाजार चौकी प्रभारी एसआई सतेंद्र भंडारी अन्य पुलिसकर्मियों के साथ तत्काल मौके पर पहुचे और दोनों से पूछताछ करने लगे। लड़की ने अपना नाम बताया उम्र 19 वर्ष बताई और खुद को जनपद की ही निवासी बताया। लड़के ने अपना नाम विनोद बिष्ट निवासी दिल्ली बताया और कहा कि हम दोनों जल्द ही शादी करने वाले हैं, शक होने पर सख्ती से पूछताछ करने पर पता लगा कि इस संदिग्ध व्यक्ति का नाम असलम पुत्र माज़िद, उम्र-40 वर्ष, निवासी ग्राम-बिहार थाना नीमका, जिला-सीकर, राजस्थान, हाल निवासी 11 पॉकेट नरेला दिल्ली बताया। साथ ही बताया कि वह कपड़ों की डाई का काम करता है और दिल्ली में इसके पत्नी और दो बच्चे भी हैं। सच्चाई पता लगने पर लड़की ने बताया कि व्यक्ति ने अब तक अपना नाम उसे विनोद बिष्ट बताया था, रविवार को लड़की पॉलिटेक्निक का पेपर देने कोटद्वार आयी थी तब असलम उसे मिलने के बहाने होटल ले गया जहाँ उसके साथ बलात्कार कर उसका वीडियो भी बनाया। दोनों की दोस्ती करीब दो साल पहले फेसबुक के माध्यम से हुई थी। और व्यक्ति ने उसे खुद को शिक्षा विभाग का अधिकारी बताया था।

अभियुक्त असलम उर्फ़ विनोद

कोटद्वार कोतवाली के एसएसआई प्रदीप नेगी ने बताया कि पुलिस द्वारा युवती के कोटद्वार निवासी रिश्तेदारों को बुलाया गया जिन्होंने इस व्यक्ति असलम के विरुद्ध थाना कोटद्वार में युवती के साथ शादी का झांसा देने, गलत नाम-पता बताने, अश्लील वीडियो बनाने, बलात्कार करने के संबंध में अभियोग पंजीकृत कराया है। जिसके बाद पुलिस द्वारा तत्काल अभियुक्त को गिरफ्तार कर लिया गया है।साथ ही अभियुक्त के कब्जे से मोबाइल बरामद हुआ जिसमें पीड़िता की अश्लील वीडियो बनाई गई थी, फ़ोन को भी पुलिस ने अपने कब्ज में ले लिया। पीड़िता का मेडिकल भी करवाया जा रहा है। कोतवाली प्रभारी निरीक्षक मनोज रतूड़ी ने बताया कि पीड़िता अभियुक्त की सच्चाई जानने के बाद से ही सदमें में है।

To Top