*** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

सेना ने पकड़े फर्जी दस्तावेज के साथ चार युवक, सेना में भर्ती होने आये थे कोटद्वार

10-06-2019 18:42:59

यूपी के बागपत और मथुरा जिले के है चारों युवा
कोटद्वार।
देवभूमि उत्तराखंड के गढ़वाल का द्वार कहे जाने वाले कोटद्वार में चल रही सेना भर्ती में फर्जी कागजो के आधार पर भाग लेने आये चार युवाओ को सेना ने पकड़ लिया हैं . कोटद्वार के कौड़िया स्थित विक्टोरिया क्रॉस गब्बर सिंह कैंप में आयोजित सेना भर्त्ती रैली के आठवें दिन पौड़ी जनपद की कोटद्वार, लैंसडौन की भर्त्ती के दौरान उत्तर प्रदेश से भर्त्ती होने पहुंचे चार युवाओं को फर्जी दस्तावेजों के साथ सेना ने धर दबोचा। जिससे उच्चाधिकारियां में हड़कंप मच गया। जांच में उनके आधार कार्ड और मूल निवास तक फर्जी पाए गए जो कि पौड़ी जनपद के कोटद्वार तहसील के नाम से बनाए गए थे। जांच में यह बात भी सामने आई कि सभी युवक दलाल के माध्यम से भर्ती होने के लिए कोटद्वार पहुंचे थे। फिलहाल सेना की खुफिया विभाग पकड़े गए युवकों से पूछताछ में जुटी हुई है।

आपको बताते चले कि कोटद्वार के कौड़िया के गब्बर सिंह कैंप में लैंसडौन भर्त्ती कार्यालय की ओर से जीडीए टेक्निकलए नर्सिग सहायक क्लर्क और ट्रेडमैन की भर्त्ती प्रक्रिया चल रही है। सोमवार को पौड़ी जनपद की कोटद्वार और लैंसडौन तहसील की भर्त्ती में उत्तर प्रदेश के चार युवक फर्जी दस्तावेजों के साथ पहुंच गए। सुबह करीब चार बजे गब्बर सिंह कैंप कौड़िया में दौड़ से पहले खुफिया विभाग को एक युवा पर लैंसडौन और कोटद्वार तहसील के आवभाव न मिलने के कारण शक हुआ। खुफिया विभाग व सेना के अधिकारियों ने जब युवा से सख्ती पूछताछ की तो उसने सब कुछ बता दिया। युवक ने खुफिया विभाग को बताया कि वह अपने तीन साथियों के साथ भर्त्ती रैली में शामिल होने आया था। युवक की पहचान पर खुफिया विभाग ने अन्य तीनों युवाओं को भी पकड़ लिया। पूछताछ में युवकों ने बताया कि एक व्यक्ति से पहले मथुरा में मुलाकात हुई थी। लेकिन वर्तमान में वह अलीगढ़ में रहता है। उत्तराखंड के कोटद्वार में सेना भर्ती की जानकारी मिली थी जिस कारण हमने कोटद्वार तहसील के फर्जी दस्तावेज बनाकर कोटद्वार पहुंच गए।

लैंसडौन के भर्ती निदेशक कर्नल विनीत वाजपेयी ने बताया कि सभी युवाओं ने मूल निवास प्रमाण पत्र आधार कार्ड और जाति प्रमाण पत्र सहित अन्य दस्तावेज पौड़ी जिले की कोटद्वार तहसील के नाम से बनाये गये है। सख्ती से पूछताछ करने पर युवाओं ने बताया कि वे सभी उत्तर प्रदेश के बागपत और मथुरा जिले के रहने वाले हैं और एक दलाल ने उन्हें सेना में भर्ती कराने का लालच दिया और भर्ती होने के बाद पैसे देने की बात भी दलाल से तय हुई थी। पूछताछ के दौरान चारों युवकों ने खुफिया विभाग को बताया कि अलीगढ़ के एक व्यक्ति से पांच.पांच हजार रुपये में भर्ती के लिए कोटद्वार तहसील के नाम पर आधार कार्ड मूल निवास और एडमिट कार्ड बनाया। चारों युवक सोहन सिंह निवासी मथुरा मनीष निवासी बागपत सचिन सिंह निवासी बागपत और वरुण बागपत निवासी हैं। कर्नल विनीत वाजपेयी ने बताया कि चारों युवकों से सख्ती से पूछताछ की जाएगी और फर्जी दस्तावेजों बनाने वाले व्यक्तियों तक पहुंचा जाएगा। जिससे कि आगे भी सेना भर्ती में पारदर्शिता बनी रहे और पहाड़ी क्षेत्र से आने वाले युवाओं का सेना भर्ती पर भरोसा बना रहे। भर्ती ग्राउंड को चारों तरफ से सीसीटीवी कैमरे से लैस किया गया हैए जिससे कि भर्ती में पारदर्शिता लाई जा सकें। उन्होंने बताया कि चार युवक जो कि मूल रूप से उत्तर प्रदेश के मथुरा और बागपत के रहने वाले हैं। उन्होंने फर्जी दस्तावेज बनाकर भर्ती रैली में घुसने का कोशिश की। जिन्हें सेना की खुफिया विभाग ने समय रहते पकड़ लिया। सभी से सख्ती से पूछताछ की जा रही है।