चोरी के खुलासे ने खोली पुलिस की पोल - हवा में तैरता सवाल कहाँ गया सुनार ?

Publish 15-03-2019 19:18:58


चोरी के खुलासे ने खोली पुलिस की पोल - हवा में तैरता सवाल कहाँ गया सुनार ?

कोटद्वार। कोटद्वार शहर में हुई चोरी की वारदातों का कोटदार पुलिस द्वारा आखिरकार खुलासा कर ही दिया गया । लेकिन खुलासे के साथ ही कोटदार पुलिस की कार्यप्रणाली पर भी सवाल खड़े हो गए। अपर पुलिस अधीक्षक प्रदीप कुमार राय ने गत अक्टूबर माह में बालासोड  क्षेत्र में हुई। तीन बड़ी चोरियों का खुलासा पत्रकारों के सामने किया गया। उन्होंने बताया कि पुलिस ने मुखबिर तंत्र को सक्रिय कर चोरी के खुलासे करने में सफलता हासिल कर ली गई। मुख्य आरोपी चांद द्वारा इन सभी चोरी की वारदातों का अपने तीन अन्य साथियों के साथ अंजाम दिया गया।  पकड़े गए अभियुक्तों के खिलाफ उत्तर प्रदेश के बिजनौर थाने में कई मुकदमे दर्ज है । अभियुक्तों के अपराधिक इतिहास जानने का भी कोटदार पुलिस प्रयास कर रही है । और अभियुक्तों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट की धारा में कार्रवाई की जा रही है ।एएसपी कोटद्वार प्रदीप कुमार राय व एसएचओ मनोज रतूड़ी के नेतृत्व में पुलिस की दो टीम गठित की गई थी , जो पिछले कुछ समय से पुरानी घटनाओ को अंजाम देने वालों की तलाश सक्रिय थी। इसके लिए सीसीटीवी फुटेज, वाहन चैकिंग के साथ मुखबिरों का भी सहारा लिया गया। जिसके बाद एक मुखबिर की सूचना पर कल एसआई किशनदत्त शर्मा व एसओजी इंचार्ज एसआई संदीप कुमार ने अन्य पुलिसकर्मियों के साथ यूपी-उत्तराखण्ड बॉर्डर पर कौड़िया रेलवे फाटक के पास से चार अभियुक्तों को गिरफ्तार किया।

 

प्रभारी निरीक्षक मनोज रतूड़ी ने जानकारी देते हुए बताया की ये सभी कोटद्वार में पूर्व में हुई चोरी की घटनाओं में संलिप्त है जो अपनी कार से जाते हुए गिरफ्तार कर लिए गए। इनके पास से बरामद कार पूर्व में हुई चोरी की घटनाओं में इस्तेमाल की जाती थी इन सभी के पास से चोरी हुए सोने चांदी के जेवरात बरामद किए गए है व सभी के पास से एक-एक तमंचा व जिंदा कारतूस भी बरामद किये गए है।चोरी व अवैध हथियार रखने के सम्बंध में पुलिस ने सभी के खिलाफ सम्बन्धित धाराओं में मुकदमा दर्ज कर न्यायालय में पेश किया जा रहा है। अभियुक्तों के बारे में ने विस्तृत जानकारी देते हुए बताया कि शाहरुख पुत्र अतीक उम्र 20 वर्ष निवासी लकड़ी पड़ाव का कोटद्वार में कबाड़ी का काम है, चांद पुत्र मंसूर उर्फ भूरा बिजनौर जिले का निवासी है, जाबिर उर्फ चोचो पुत्र जमील बिजनौर जनपद के स्योहारा का रहने वाला है जो वर्तमान में लकड़ी पडाव में मदीना मस्जिद के पास रहता है, शाहिद पुत्र शकील भी जनपद बिजनौर का रहने वाला है। इसके साथ ही बताया कि लकड़ी पड़ाव में जिस जगह ये रह रहे थे उन लोगो के खिलाफ भी पुलिस कानूनी कार्यवाही कर रही है जिससे भविष्य में इस प्रकार के अपराधिक लोगो को बिना पूर्ण जानकारी लिए किराये पर न रखा जाए। एएसपी प्रदीप कुमार राय ने बताया कि गिरफ्तार किए गए सभी अभियुक्त पहले भी चोरी की घटनाओं में जेल जा चुके है व काफी समय से इस तरह की घटनाओं को अंजाम दे रहे है जानकारी के अनुसार इन पर यूपी में कई मुकदमे दर्ज है जिसके बारे में जांच की जा रही है। इन सभी के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट में भी कार्यवाही की जा रही है। पुलिस टीम में एसएसआई प्रदीप नेगी, आशीष चौधरी, डिंपल सिंह, सतपाल, कुलदीप सिंह, सुनीत, राहुल फोर, हरीश लाल, अबिद अली, अमरजीत व फिरोज शामिल थे। इस कार्यवाही व खुलासे के लिए एसएसपी पौड़ी द्वारा पुलिस टीम को 2500 रुपये इनाम देने की भी घोषणा की गई


 वही अपर पुलिस अधीक्षक प्रदीप कुमार राय ने कहा कि चोरी की गई सभी चीजों की 95% से अधिक माल की बरामदगी कर ली गई है । परंतु वही पुलिस की इस बरामदगी पर भी सवाल खड़े हो जाते हैं कि है जेवर चोरों ने किसके पास बेचे थे । अगर सूत्रों की माने तो बिजनौर से कोटदार पुलिस एक सुनार के लेकर आई थी । जब अपर पुलिस अधीक्षक से जानकारी ली गई तो उन्होंने जानकारी ना होने की बात कही वहीं जबकि सूत्रों की माने तो कोटद्वार में सुनार को लेकर के तमाम तरीके की चर्चाएं कल शाम से गर्म हो करके फिजाओं में घूम रही थी कि आखिर बिजनौर का सुनार कौन था। जिसे कोटदार पुलिस स्नेह चौकी में लाई  थी। और फिर वह हवा में ही गायब हो गया इसका जवाब किसी के पास नहीं।पुलिस टीम में वरिष्ठ उपनिरीक्षक प्रदीप नेगी,उपनिरीक्षक किशन दत्त शर्मा,आशीष चौधरी,डिम्पल सिंह,सतपाल,कुलदीप, सुमित,उपनिरीक्षक सन्दीप कुमार,राहुल फोर,हरीश लाल,आबिद अली,अमरजीत,फिरोज, आदि मौजूद रहे।

To Top