बलात्कार के फरार आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार

Publish 19-02-2019 16:42:21


बलात्कार के फरार आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार
फतेहपुर चौरासी उन्नाव (रघुनाथ)|  याद है बीते वर्ष का आषाढ़ माह। जमीन पर पानी ही पानी लहरा रहा था, तो आसमान में काले भूरे बदरा गहरा रहे थे, लेकिन इस वर्ष तो बदरा रूठ से गए हैं।  पूरा आषाढ़ का महीना गुजरा जा रहा है। 
नदी तालाबों में पानी कहीं नहीं दिख रहा है।अषाढ़ में आसमान से आग बरस रही है, जिससे जेठ के महीने की गर्मी का सा अहसास हो रहा है। मौसम में उमस बढ़ जाने से पसीना भी ज्यादा परेशान कर रहा है। मौसम में कोई बदलाव ही नहीं हुआ और बरसात न होने से सभी ओर परेशानी नजर आ रही है। बीते बर्ष जून में अच्छी बारिश हो गई थी किंतु इस साल पूरा जून बीत गया, लेकिन वर्षा नहीं हुई। आसमान पर आषाढ़ के बदरा आते है। और छाए रहते बिन बरसे ही लौट जाते हैं। बारिश न होने से तापमान बरसात के मौसम में भी आसमानी सफर पर है। पानी न बरसने से गर्मी का रौद्र रूप बना हुआ है। आसमान से आग सी बरस रही है। इस मौसम में लोगों को ठंडी बयार के झोंकों के बजाय गर्म लू के थपेड़े झेलने पड़ रहे हैं। इससे मौसम आषाढ़ में भी जेठ का ही अहसास करा रहा है। लिहाजा गर्मी तो पहले जैसी ही है पर बरसात का वक्त होने के कारण इसमें उमस बढ़ गई है। इसके चलते लोग पसीना-पसीना हो रहे हैं।
क्षेत्र के किसान चिंतित हैं 10 दिन और बारिश नहीं हुई तो किसान की फसल बोई हुई नष्ट हो जाएगी जिससे किसान भुखमरी की कगार पर पहुंच सकते हैं।
कुछ किसान तो अपनी फसलें पंपिंग सेट के मदद से सिंचाई करना शुरू कर दी है। जिन किसानों ने ऐसी जगह फसलें बोई हैं। जहां पर सिचाईं का कोई साधन उपलब्ध नहीं है सबसे ज्यादा चिंता उन्हीं किसानों को रही है।
To Top