ब्रेकिंग न्यूज़ !
    *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

    पुलिस ने पकड़ी 20 लीटर कच्ची व आठ पेटी अवैध अंग्रेजी शराब

    28-03-2019 13:53:53

     

    अल्मोड़ा 09 सितम्बर, ब्लांक इकाई धौलादेवी के तत्वाधान में पुरानी पेंशन बहाली की मांग को लेकर श्री रामलीला मैदान दन्या में एक सम्मेलन आयोजित कर शासनकृप्रशासन के विरोध में रामलीला मैदान से जीजीआईसी दन्या तक विशाल रैली निकाल कर अपना आक्रोश व्यक्त किया। जिसमें क्षेत्र के समस्त शिक्षक, कर्मचारियों, अधिकारियों शामिल हुए थे। रविवार को श्री रामलीला मैदान में हुई सम्मलेन को संबोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष रधुवीर सिंह बिष्ट ने कहा कि सांसद एवं विधायक तो पुरानी पेंशन का लाभ ले रहे है। लेकिन शिक्षकों, कर्मचारियों, अधिकारियों को इससे वंचित रखा गया है जो कि संविधान का उल्लंघन एवं अन्यायपूर्ण है। प्रदेश उपाध्यक्ष रविंद्र सिंह ने नई पेंशन व्यवस्था को कर्मचारियों के भविष्य के साथ खिलवाड़ बताते हुए पुरानी पेंशन बहाल किए जाने की मांग की। साथ ही समस्त कर्मचारी वर्ग से आंदोलन से जुडने का आहवान किया। सम्मलेन की अध्यक्षता करते हुए ब्लांक अध्यक्ष योगेंद्र रावत ने कहा कि जब तक उनकी मांग पूरी नहीं होगी तब तक आंदोलन की जारी रखा जाएगा। उन्होंने रैली की सफल बनाने पर सभी का आभार व्यक्त किया।किया। सम्मेलन का संचालन ब्लांक संयोजक राजू महरा एवं ब्लांक मंत्री दिनेश कांडपाल ने किया। इस दौरान जिलाध्यक्ष गणेश भंडारी, जिलामंत्री भूपाल चिलवाल, धीरेंद्र पांडे, महेश पंत, संगठन मंत्री ललित जोशी, सुशील तवारी, खुशहाल महर, , किरन रावत, त्रिभुवन बिष्ट, मनोज बिष्ट, सुरेश जोशी, हरीश इमलाल, सहित शिक्षा, स्वास्थ्य , राजस्व तहसली, कृर्षि विभाग के सैकड़ों कर्मचारी मौजूद थे।