*** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400, ऑफिस 01332224100 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ पर आप अपने लेख, कविताएँ भेज सकते है सम्पर्क करें 9410553400 हमारी ईमेल है liveskgnews@gmail.com *** *** सेमन्या कण्वघाटी समाचार पत्र, www.liveskgnews.com वेब न्यूज़ पोर्टल व liveskgnews मोबाइल एप्प को उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, मध्यप्रदेश राजस्थान, दिल्ली सहित पुरे भारत में जिला प्रतिनिधियों, ब्यूरो चीफ व विज्ञापन प्रतिनिधियों की आवश्यकता है. सम्पर्क 9410553400 *** *** सभी प्रकाशित समाचारों एवं लेखो के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है, किसी भी वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा . *** *** लाइव एसकेजी न्यूज़ के मोबाइल एप्प को डाउनलोड करने के लिए गूगल प्ले स्टोर से सर्च करे liveskgnews ***

About Us

www.liveskgnews.com

सेमन्या कण्वघाटी
सेमन्या कण्वघाटी हिंदी पाक्षिक समाचार पत्र की शुरुआत 15 नवम्बर 2013 से हुई थी | समाचार पत्र हिंदी भाषा में देवभूमि उत्तराखण्ड के धर्मनगरी हरिद्वार के ग्राम बसवाखेडी , पोस्ट मंगलौर से हुई थी | समय के साथ साथ समाचार पत्र अपनी कसौटी पर खरा उतरा | जिस तरह तेज गति से डिजिटल भारत का निर्माण होना शुरू हुआ है उसी क्रम में समाचार पत्र ने 15 नवम्बर 2017 को अपना वेब न्यूज़ पोर्टल www.liveskgnews.com शुरू किया है और यूट्यूब पर liveskgnews चैनल की भी शुरुआत की | डिजिटल युग में लाइव एसकेजी न्यूज़ ने डिजिटल में एक कदम बढ़ाते हुए 15 नवम्बर 2018 को अपना मोबाइल एप्प शुरू किया है जिसे गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है सर्च करें liveskgnews
आज हमारे वेब न्यूज़ पोर्टल /समाचार पत्र/ मोबाइल एप्प एक साथ पब्लिश हो रहे है

सेमन्या कण्वघाटी हिन्दी पाक्षिक समाचार पत्र
(आरएनआई नम्बर UTTHIN/2013/54659)

www.liveskgnews.com

वेब न्यूज़ पोर्टल

ट्विटर http://twitter.com/liveskgnews
फेसबुक http://facebook.com/liveskgnews

यूट्यूब liveskgnews channel

सम्पर्क सूत्र - 9410553400

ऑफिस 01332224100

ईमेल - editor@liveskgnews.com

हमारा अधिकारिक वाट्सएप्प नम्बर - 9410553400

आशीष कुमार , प्रबन्ध सम्पादक - 7340833999

विनीत कुमार , सर्कुलेशन प्रभारी

नोट : सभी खबरों के प्रकाशन के लिए सम्पादक की सहमती जरुरी नही है

(किसी भी प्रकार की वाद विवाद की स्थिति में न्याय क्षेत्र हरिद्वार न्यायालय में ही मान्य होगा )